हेलो दोस्तों Hindi Read में आप सभी का स्वागत है| आज हम आपको food poisoning क्या है व उसके लक्षण व उपचार के बारे में बताएँगे| फूड पॉइज़निंग के दिए हुए उपचारो के द्वारा आप आसानी से इस समस्या से राहत पा सकते है|

बरसात के मौसम में ज्यादातर हमे पेट की समस्याए  शुरू हो जाती है | जिसका एक प्रमुख कारण फूड पॉइज़निंग हो सकता है| क्योकि बरसात के मौसम में हम अपने खाने पीने की चीज़ो में सावधानी नहीं बरतते है इसी कारण हमे फ़ूड पॉइज़निंग की समस्या का सामना करना पड़ता है |

फूड पॉइज़निंग क्या है ? (what is food poisoning ?)

फ़ूड पॉइज़निंग को विषाक्त भोजन या आहार कहते है| फ़ूड पोइज़निंग की समस्या बासी भोजन या फिर दूषित भोजन करने से आती है| जब हम दूषित भोजन करते है तो उस में उत्पन्न बैक्टीरिया हमारे शरीर में चले जाते है जिनके द्वारा हमारे भोजन तंत्र को हानि पहुँचती है| और इसका नतीजा उलटी, पेट दर्द, पेट ख़राब आदि जैसे समस्या उत्पन्न हो जाती है| फ़ूड पॉइज़निंग को फूडबॉर्न इलनेस भी कहते है|

फ़ूड पॉइज़निंग के लक्षण :-

फ़ूड पोइज़निंग के लक्षण जल्द ही शरीर में दिखाई देने लगते है| लेकिन कभी कभी यह लक्षण कुछ दिनों बाद दिखाई देते है| जब आप विषाक्त भोजन करते है तो उसके कुछ ही घंटो बाद आपको पेट दर्द, पेट ख़राब, उलटी आदि समस्याए होने लगती है| कुछ समय तक तो आप इन्हे अनदेखा कर देंगे | लेकिन धीरे धीरे यह समस्याए बढ़ती  चले जाती है| जब स्थिति ज्यादा गंभीर हो जाती है तो तेज बुखार, शरीर में सूजन, शरीर में दर्द, सांस लेने में तकलीफ व कंपकंपी होना जैसी समस्याए होने लगती है| यदि समय पर इसका उपचार नहीं किया गया तो आपको अत्यधिक कमजोरी होने लगेगी क्योकि उलटी और पेट ख़राब  की समस्या से आपके शरीर में पानी की कमी हो जाती है| यही कारण है की इसका उपचार जल्दी से जल्दी कर लेना चाहिए|

Related Post :-

फ़ूड पॉइज़निंग के उपचार :-

फ़ूड पोइज़निंग का उपचार, बीमारी के लक्षण के आधार पर किया जाता है| लेकिन देखा जाये तो फ़ूड पोइज़निंग एक स्वयं सही होनी वाली समस्या है |लेकिन यदि आपने अपने खान पान में सहूलियत नहीं बरती हो यह समस्या एक गभीर समस्या का रूप भी ले सकती है| फ़ूड पोइज़निंग हो जाने पर कुछ घरेलु उपचार है जिनके द्वारा आप आसानी से इस फ़ूड पाइजनिंग की समस्या से निजात पा सकते है|

फ़ूड पाइजनिंग की समस्या  को दूर करने के कुछ घरेलु उपचार :-

1 ) ज्यादा से ज्यादा पानी पिये :- फ़ूड पाइजनिंग (food poisoning)होने पर शरीर में पानी की बहुत कमी हो जाती है| जिस कारण शरीर कमजोर होने लगता है | इसीलिए फ़ूड पॉइज़निंग होने पर ज्यादा से ज्यादा मात्रा में पानी लेना बहुत जरुरी है| और साथ ही उन चीज़ो को खाये जिनमे पानी की मात्रा ज्यादा होती है| ताकि आपके शरीर में पानी की समस्या

2 ) दूध का सेवन न करे :- फ़ूड पोइज़निंग हो जाने पर आप दूध से दूर ही रहे तो आपके शरीर के लिए यह बहुत ही ज्यादा फायदेमंद होगा| क्योकि पेट ख़राब में दूध का सेवन करना सेहत को और ज्यादा बिगाड़ना है| यही कारण है की डॉक्टर भी फ़ूड पोइज़निंग में दूध का सेवन करने को मना करते है|

3 ) दही का सेवन करे :- फ़ूड पॉइज़निंग (food poisoning) होने पर दही का सेवन करने से शरीर में कुछ राहत मिलती है | क्योकि दही में भोजन पाचन की समता को बढ़ाने वाले बैक्टीरिया पाए जाते है| जिससे फ़ूड पोइज़निंग की समस्या से आप जल्दी से राहत पा सकते है|

4 ) ज्यादा मिर्च मसाले वाले भोजन से परहेज करे :- फ़ूड पोइज़निंग हो जाने पर हमें ज्यादा मसाले वाले भोजन से दूर ही रहना चाहिए ज्यादा मिर्च मसाले वाले भोजन से पेट दर्द, मरोड़ आदि समस्याएं होती है| जोकि फ़ूड पोइज़निंग में सही नहीं है| इससे सेहत और ख़राब हो सकती है| यही कारण है की ज्यादा मसाले वाले भोजनो से दुरी बनाये रखे|

5 )ठोस भोजन का सेवन न करे :- ठोस भोजन को फ़ूड पाइजनिंग के समय नहीं लेना चाहिए क्योकि ठोस भोजन को पचने में बहुत समय लगता है| यही कारण है की ठोस भोजन को फ़ूड पोइज़निंग के समय मना किया जाता है| आप दलिया या फिर उबला हुआ आलू को ले सकते है | साथ ही केले का सेवन करना भी पेट की समस्या को आराम पहुँचता है|

नोट
यदि ऊपर दिए हुए उपचारो के बाद भी राहत नहीं मिलती है तो आप तुरंत ही डॉक्टर के पास जा कर अपनी जांच करा ले ताकि बीमारी के लक्षणों का सही आकलन कर उपचार किया जा सके|

यदि आपको यह आर्टिकल पसंद आया हो तो आप हमे कमेंट कर जरूर बताये| अपने सुझाव को आप हमें ईमेल द्वारा भेज सकते है |

ईमेल @:- contact.hindiread@gmail.com