हेलो दोस्तों Hindi Read में आप सभी का स्वागत है | आज हम आपको कहानी के माध्यम से एक सीख देना चाहते है| जो इस कहानी का शीर्षक भी है | “ठगी का नतीजा बुरा होता है ” इस कहानी के द्वारा आप समझ जायेंगे की किसी भी व्यक्ति को किसी कारण से ठगने का अंजाम हमेसा ही बुरा होता है|

एक शहर में एक वृद्ध महिला रहती थी| अचानक ही उस वृद्ध महिला की आँखो की रोशनी धीरे धीरे कम होने लगी | वह एक आखो के डॉक्टर के पास गयी और उसे अपनी समस्या पूर्ण रूप से बताई की कैसे अचानक से उसकी आखो की रौशनी कम होंने लगी है जिस कारण वह अब कुछ भी चीज देखने में असमर्थ है |

जब डॉक्टर ने उस वृद्ध महिला की सम्पूर्ण बात समझी | तो  डॉक्टर ने कहा आपकी आँखे में जल्द ही सही कर दूंगा| ऐसा सुन महिला बहुत खुश हो गयी और डॉक्टर से कहने लगी यदि आपने मेरी आँखे सही कर दी तो में आपको 10 हजार रूपए इनाम के रूप में दूंगी|

ऐसा सुन डॉक्टर खुश हो गया और वह उस  वृद्ध महिला का इलाज उसके ही घर पर करने लगा| डॉक्टर हर हफ्ते उस वृद्ध महिला के घर जाता और उनका चेकअप करता और उन्हें दवाई दे आता|

और पढ़े :-

लेकिन डॉक्टर बहुत लालची था वह जब भी इलाज के लिए वृद्ध महिला के घर जाता वह  वहाँ से कुछ न कुछ कीमत सामान अपने साथ ले आता | क्योकि वह जानता था की वृद्ध महिला को कुछ दिखाई तो  देता नहीं है इसी  फायदा उठा कर वह उसके घर से कीमती सामान को चुरा लेता था|

धीरे धीरे डॉक्टर ने उस वृद्ध महिला के घर का ज्यादातर कीमती सामान चुरा लिया| ऐसे करते करते जब एक दिन वह वृद्ध महिला के घर इलाज करने गया तो उस दिन वृद्ध महिला की आँखे ठीक हो गयी| लेकिन जब महिला ने अपने घर की हालत देखी | तो वह समझ गयी की डॉक्टर ने कुछ गड़बड़ की है| लेकिन तभी डॉक्टर ने वृद्ध महिला से इनाम के पैसे 10 हजार देने को कहा| लेकिन वृद्ध महिला ने मना कर दिया |

ऐसा सुन डॉक्टर ने उस महिला की शिकायत अदालत में कर दी| अब महिला को अदालत में बुलाया गया|

जज ने महिला से पूछा -“डॉक्टर को तुमने 10 हजार रूपए देने  को कहे थे | सच सच बताना | ”

वृद्ध महिला ने जवाब दिया -“हाँ मैंने डॉक्टर से कहा था यदि मेरी आँखे ठीक हो गयी तो में तुम्हे 10 हजार रूपए दूंगी |”

ये सब सुन जज ने महिला से कहा -“तो जब आपकी आँखे पूरी तरह से ठीक हो गयी है तो अब आप डॉक्टर को पैसे क्यों नहीं दे रही है|”

महिला ने जवाब दिया -“जज साहब पैसे तो आँखे पूरी तरह ठीक होने पर ही देने थे लेकिन मेरे आखे तो अभी भी पूरी तरह से ठीक नहीं हुए है ”

ये सुन जज ने महिला से कहा -“आप कहना क्या चाहते हो सब कुछ तो दिख रहा है आपको  ”

महिला ने जवाब दिया -“नहीं जज साहब जैसे ही मेरी आँखे ठीक हुए तो मुझे मेरे घर की कीमती चीज़े तब से नहीं दिखाई दे रही है अब आप ही फैसला कीजिये की कौन सच्चा है कौन झूठा ”

जज ने महिला की बात पर गौर किया और समझ गए की ये सब डॉक्टर का करा धरा है | तब जज ने महिला के पक्ष में फैसला लिया और सामान चुराने के जुर्म में डॉक्टर को सजा दी|

शिक्षा
शिक्षा :- इस कहानी से यह शिक्षा मिलती है की – “जो लोग अपने अच्छे काम के नाम पर लोगो को ठगते है उनके साथ हमेसा बुरा ही होता है|”

यदि ये कहानी आपको पसंद आई हो तो आप हमे कमेंट कर जरूर बताये | साथ ही यदि आपको इस कहानी में कुछ कमी लगी हो तो आप हमे ईमेल के जरिये बता सकते है |

ईमेल @ :- contact.hindiread@gmail.com