मध्यप्रदेश के उर्दु साहित्यकार 

URDU SAHATIYAK MP GK IN HINDI 

प्रदेश के प्रमुख उर्दू साहित्यकार:-  जावेद अखतरमंज़र भोपालीकैफ़ भोपालीराहत इन्दौरीताज भोपालीमुल्ला रमूजीअसद भोपाली निदा फाजलीमहमूद नश्तरीआरिफ जलाल मकसूद भोपालीसुलेमान ईरानीहयात हाशमीतालिब मुमताजमीर मुबारकबशीर बद्र इत्यादि

mp gk urdu sahitykar


इनमें से कुछ उर्दु साहित्याकारो की जानकारी विस्तापुर्वक प्रस्तुत है। 

मध्यप्रदेश के कुछ प्रमुख उर्दु साहित्याकारो की जानकारी

मुल्ला रमूजीः- 

 उर्दू साहित्यकारों मे मुल्ला रमूजी ऐसे साहित्यकार थेजिन्होंने उर्दू साहित्य में हास्य और व्यंग्य की विधाओं में कार्य किया है। इन्हें गुलाबी उर्दु काख्यातनामा रचनाकर माना जाता है। मुल्ला रमूजी का जन्म 21 मई 1896 को भोपाल में हुआ था। 

कैफ़ भोपालीः- 

कैफ़ भोपाली का जन्म 20 फरवरी 1917 को भोपाल में हुएउनकी ग़ज़ल का रंग अपनी जगह सबसे अलग था। उन्होंने कुरान का अनुवाद भी कविता के रूप में कियाजिसके 13 पारे प्रकाशित हुए। पाकाज़ा और रजिया सुल्तान जैसी फिल्मों में भी उनके लिखे गाने हैं।

असद भोपालीः- 

असद भोपाली का जन्म10 जुलाई 1921 को  हुए। असद भोपाली ने दर्जनों फिल्मों में गाने लिखेलेकिन इसके साथ ही वे नज़्म और ग़ज़ल दोनों विधाओ में पारंगत थे। 

अख़्तर सईद खा-

 अख़्तर सईद खा का जन्म अक्टूबर 1923 को भोपाल में हुआ था। आज़ादी के वर्षों में प्रगतिशील लेख संघ से जुड़े और उसके बाद अध्यक्ष भी बने। तीन पुस्तकं लिखीं जिनमें शायरी और रवीन्द्र नाथ टैगोर की कविताओं का अनुवाद भी शामिल है। इंग्लैण्ड के प्रतिष्ठा सम्मान के साथ आपको राष्ट्रीय इकबाल सम्मान से भी नवाजा जा चुका है। 

निदा फ़ाज़लीः- 

निदा फ़ाज़ली ने नज्मग़ज़लगीत और दोहो में अपनी रचना नहीं कि अपितु गद्य में भी अपने आपको साबित किया। हिन्दुस्तान की नामवर शख़्सियतों में से एक है। 

मंज़र भोपालीः-

 मंजर भोपाली भोपाल के उन युवा शायरों में से है जिनकी ख्याति न सिर्फ भारत में बल्कि दुनिया के उन सब देशो और शहरों में जहा मुशायरे होते है। 


म.प्र. के प्रमुख मेले विस्तार जानकारी MP PRMUKH MELO KI JANKARI पढ़ने के लिए क्लिक करे

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *