Jiwan kya he (what is life the best poem) famous hindi poems

हमारे जीवन में काफी उतार-चढ़ाव आते है। जीवन के हर कदम में अपनी समस्या के सामाधान करने में अपनी पुरी जन्दगी (life) बिता देते है और हम अपने आज को भुला देते है जीवन के इस सत्य पर आधारित एक कविता ढुड़ कर लाया हूॅ आपके सामने प्रस्तुत है।   
      

जीवन पर कविता (सुंदर कविता हिंदी में)

“पैर की मोच और छोटी सोच,
हमें आगे बढ़ने नहीं देती | 
 टूटा कमल और भौरे जलन,
खुद का भाग्य लिखने नहीं देती | 
काम का आलस और पैसा का लालच
हमें महान बनने नहीं देता|”
“अपना मजहब ऊचा और गैरों का नीचा
यह सोच हमें इंसान बनने नहीं देती |
भगवान से वरदान मांगा कि,
 दुश्मनों से पीछा छुड़वा दो अचानक दोस्त कम हो गया |
दुनिया में सब चीजें मिल जाती है,
केवल अपनी गलती नहीं मिलती |”

“इस दुनिया के लोग भी कितने अजीब है ना,
सारे खिलौने छोड़ कर जज्बातों से खेलते हैं |
जितनी भीड़ बढ़ रही है जमाने में, 
लोग उतने ही अकेले होते जा रहे हैं |
किनारे पर तैरती लाश को देखकर मैं समझ गया,
बोझ शरीर का नहीं सांसों का था |”
“दोस्त के साथ जीने का एक मौका दे दे ए खुदा
तेरे साथ तो हम मरने के बाद भी रह लेंगे |
तारीख हजार साल में बस इतनी सी बदलती है,
तब दौर पत्थर का था अब लोग पत्थर के | “

पापा के ऊपर कविताए Papa ke uper kavitye (FATHER POETRY)

आपको यह कविता कैसी लगी कमेंट बाक्स में कमेंट अवष्य किजीये और साथ में ऐसी कविताए लगातार आपके खोज कर प्रस्तुत करता रहूगा। जिन कविताओ से आपको और साथ ही मुझे भी प्रेरणा मिले

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *