TLM  Teaching Learning Material में  क्या-क्या उपकरण बनाए जा सकते हैं


tlm

TLM यानी Teaching Learning Material, यह शिक्षण और सीखने के उपकरणों का एक समूह होता है। इन उपकरणों का उपयोग शिक्षण और सीखने को अधिक आकर्षक, समझदार और प्रभावी बनाने के लिए किया जाता है। इसलिए, TLM को स्कूली शिक्षा में उपयोग करना अत्यंत महत्वपूर्ण है।

तो TLM में निम्नलिखित उपकरण बनाए जा सकते हैं:

चार्ट और डायग्राम: इन्हें एक दीवार पर लगाकर विषयों को समझाना आसान होता है। यह स्थाई शिक्षण के लिए उपयोगी होते हैं।

फ्लैश कार्ड्स: ये शब्द, वाक्य, और गणितीय अंकों के लिए उपयोगी होते हैं जो शिक्षण को आसान बनाते हैं।

जादू का टोपी और अन्य खेल: जादू का टोपी जैसे खेल शिक्षण और सीखने को अधिक रोचक बनाने में मदद करते हैं।

प्रोजेक्टर और स्क्रीन: इनका उपयोग चित्र, वीडियो, और अन्य मल्टीमीडिया सामग्री को प्रदर्शित करने के लिए किया जाता है।

वर्णमाला और अक्षर कार्ड: यह बच्चों को अक्षर और शब्दों को सीखने में मदद करते हैं। ये छोटे आकार के होते हैं और बच्चों के लिए आसानी से संभव होता है कि वे इन्हें हाथ में उठाकर संज्ञा, क्रिया, विशेषण और अन्य वर्गीकृत शब्दों को सीख सकें।

खिलौने और गतिविधियाँ: खिलौने और गतिविधियाँ छोटे बच्चों को बढ़ने और विकसित होने के लिए खेलने और अंग्रेजी या हिंदी भाषा में संचार करने में मदद करते हैं।

पुस्तकें और वेबसाइट: विभिन्न विषयों की पुस्तकें और वेबसाइटें छात्रों को नए ज्ञान के स्रोत के रूप में प्रदान करती हैं।

वीडियो और ऑडियो के साथ प्रश्नोत्तरी: इसके माध्यम से शिक्षक छात्रों के लिए प्रश्न और उत्तर तैयार कर सकते हैं और वे उनके जवाब देते हुए सीख सकते हैं।

लेखन उपकरण: लेखन उपकरण छात्रों को व्याकरण, वाक्य संरचना, वर्तनी, और अन्य विषयों में मदद करते हैं। 

गणित उपकरण: ये उपकरण बच्चों को अंकों, जोड़, घटा, गुणा, और भाग करने में मदद करते हैं। इन्हें गणित के विभिन्न पहलुओं से रूबरू कराया जाता है जैसे कि संख्या पट्टे, घड़ियाँ, रोल और ब्लॉक्स।

सामाजिक अध्ययन सामग्री: ये उपकरण बच्चों को आसपास की दुनिया के विभिन्न पहलुओं से परिचित कराते हैं। इनमें विभिन्न विषयों जैसे इतिहास, भूगोल, संस्कृति, और राजनीति को समझाने के लिए सामग्री शामिल होती है।

विज्ञान सामग्री: ये उपकरण बच्चों को विज्ञान के विभिन्न पहलुओं से परिचित कराते हैं। इनमें विभिन्न विषयों जैसे प्रकृति, विज्ञान के मूल सिद्धांत, तत्व और प्रक्रियाएं शामिल होती हैं।

चित्रों और वीडियो का उपयोग: छात्रों को सीखने के लिए चित्रों और वीडियो का उपयोग करना एक बहुत अच्छा तरीका है। ये बच्चों को अपने विषय को समझने और याद करने में मदद करते हैं।

खेल और सामाजिक गतिविधियां: बच्चों के विकास के लिए खेल और सामाजिक गतिविधियां भी महत्वपूर्ण होते हैं। ये उन्हें टीमवर्क, सहयोग, संयम, और अन्य मूल्यों को सीखने में मदद करते हैं।

शिक्षक के लिए उपकरण: शिक्षकों के लिए भी कुछ टूल उपलब्ध होते हैं, जिन्हें वे अपने पाठ में शामिल कर सकते हैं। इनमें स्कूल वार्निंग सॉफ्टवेयर, ऑटोमेटेड अंक मैनेजमेंट सॉफ्टवेयर, और ऑनलाइन शिक्षा संसाधन शामिल होते हैं।

कला और क्राफ्ट उपकरण: कला और क्राफ्ट का उपयोग भी बच्चों के स्कूली विकास में महत्वपूर्ण होता है। इनमें पेपर मैशे, कलर्ड पेपर, फोम पेपर, और उचित शिक्षा उपकरण शामिल होते हैं।

ऑडियो वीजुअल सामग्री: ऑडियो वीजुअल सामग्री बच्चों को सीखने में मदद कर सकती है। इसमें वीडियो क्लिप्स, आवाज, संगीत, और अन्य ऑडियो सामग्री शामिल होती है।

वर्चुअल टूर्स: वर्चुअल टूर्स बच्चों को दुनिया के विभिन्न हिस्सों के बारे में सीधे अनुभव प्रदान करते हैं। इसमें विभिन्न वेबसाइट्स, वीडियो, और एप्लीकेशन शामिल होते हैं।

सेल्फ लर्निंग टूल्स: सेल्फ लर्निंग टूल्स बच्चों को अपने विद्यालय के बाहर भी सीखने के लिए मदद करते हैं। इसमें विभिन्न शिक्षा एप्लीकेशन, ऑनलाइन कक्षाएं, वेबसाइट्स और अन्य सामग्री शामिल होती है।

सामान्य ज्ञान और समाचार: सामान्य ज्ञान और समाचार संबंधित सामग्री बच्चों को विभिन्न विषयों के बारे में जानकारी प्रदान करती है। इसमें न्यूज़पेपर, मैगजीन, टीवी और रेडियो शामिल होते हैं।

ऑडियो बुक्स: ऑडियो बुक्स बच्चों को विभिन्न कहानियों, उपन्यासों, जीवनी, आदि सुनाते हैं। इससे उन्हें सुनने, समझने और अपनी स्पीड से सीखने में मदद मिलती है।

वर्चुअल एवं आभासी कक्षाएं: वर्चुअल एवं आभासी कक्षाएं बच्चों को वेब कैमरे के जरिए ऑनलाइन कक्षाएं प्रदान करती हैं। इससे वे अपने विद्यालय के बाहर रहते हुए भी अध्ययन कर सकते हैं।

संस्कृति और भाषा सीखने के टूल्स: संस्कृति और भाषा सीखने के टूल्स बच्चों को उनकी मातृभाषा और विभिन्न भाषाओं के बारे में सीखाते हैं। इसमें भाषा सीखने के ऐप्स, वीडियो, बुक्स, और आभासी खेल शामिल होते हैं।

सोशल एवं इमोशनल लर्निंग टूल्स: सोशल एवं इमोशनल लर्निंग टूल्स बच्चों को सोशल और इमोशनल स्किल्स सीखने में मदद करते हैं। इसमें इमोशनल इंटेलिजेंस गेम्स, समूह गतिविधियां, वीडियो और अन्य सामग्री शामिल होती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *