[ad_1]

Kisan call center किसान कॉल सेंटर: मोबाइल नंबर किसान कॉल सेंटर टोल फ्री नंबर हिंदी

kisan call center जैसे कि हम जानते हैं कि भारत की अधिकांश जनता अपने रोजगार के लिए खेती पर प्रतिबंध लगाती है। लेकिन सभी के पास इस खेती को लेकर संपूर्ण ज्ञान नहीं होता है। यदि कोई व्यक्ति इसे अपने व्यवसाय के रूप में चुनता है तो वह अपने पूर्वजो के यू.एस. द्वारा किये गये टेक्निको को फॉलो करता है। हमारे यहां खेती करने के लिए यह जरूरी है कि किसी भी व्यक्ति के लिए कोई विशेष शिक्षा या प्रशिक्षण न लिया जाए। उसने बस यही फॉलो किया है जो उसने बचपन से देखा है। परंतु यहां खेती के लिए और भी उन्नत बनाने के लिए कई तकनीकें उपलब्ध हैं। इन तकनीकों को किसानों द्वारा यू.एस. भी बनाया जा रहा है। लेकिन जब वे खेती के लिए नई तकनीक अपनाते हैं तो कई तरह की समस्याएँ पैदा हो जाती हैं। किसान अपनी समस्या का समाधान तुरंत एक ही समय में कर सकें इसलिए भारत सरकार ने किसान कॉल सेंटर शुरू किया (किसान कॉल केंद्र) मटेरियल किसान किसी भी समय मुफ्त में कॉल करके अपनी समस्या का समाधान कर सकते हैं।

किसान कॉल सेंटर टोल फ्री नंबर हिंदी में

Kisan call center किसान कॉल सेंटर टोल फ्री नंबर हिंदी में

भारतीय कृषि मंत्रालय ओर भारत सरकार के प्रयास की शुरुआत 21 जनवरी 2004 मे किसान कॉल सेंटर (किसान कॉल केंद्र) की सुरवात हुई. यह सुविधा पूरे भारत में एक साथ शुरू की गई। किसान कॉल सेंटर किसान कॉल केंद्र) पंजीकरण का मुख्य उद्देश्य किसानों की समस्या का समाधान तुरंत उनकी स्थानीय भाषा में समाधान करना है। देश के प्रतिनिधि भाग मे किसान कॉल सेंटर (किसान कॉल केंद्र) चरणबद्ध जगाए जो उस हिस्से के किसानों की समस्या का समाधान उनकी स्थानीय भाषा में करता है। किसानों की समस्या जो भी कृषि से जुड़ी हुई है उसका समाधान किसान कॉल सेंटर में है (किसान कॉल केंद्र) पर किया गया है।

एक किसान जो देश के किसी भी हिस्से में रहता हो किसान कॉल टोल फ्री नंबर 1551 या 1800-180-1551 (किसान टोल फ्री नंबर पर कॉल करें 1800-180-1551)पर कॉल करके अपनी समस्या का समाधान कर सकते हैं। किसान कॉल सेंटर (किसान कॉल केंद्र) उपस्थित व्यक्ति किसानो की समस्या का समाधान तुरंत पूछता है। यदि कॉल रिसीव करने वाला व्यक्ति किसी किसान की समस्या का समाधान करने में सक्षम नहीं है तो वह उसी समय उस कॉल को किसी विशेषज्ञ को स्थानांतरित कर देता है।

किसान कॉल सेंटर (किसान कॉल केंद्र) मे किसानो की समस्या का समाधान कंप्यूटर ओर फ़ोन दोनों पर ही उपलब्ध है। लेकिन एक रिसर्च से सामने आया है कि एक अधिकारी गाव मे एक सार्वजनिक फोन पर ही उपलब्ध है। इसका उपयोग करके किसान, किसान कॉल सेंटर पर बात कर सकते हैं और अपनी समस्या का समाधान कर सकते हैं।

पूरे देश में कुल 13 किसान कॉल सेंटर (किसान कॉल केंद्र) चल रहे हैं जिनमे कुल 113 कृषि विशेषज्ञ कॉल रिसिवर लेकर किसानों की समस्या का समाधान करें। इन 113 लोगो को देश के अलग हिसो से चुना गया है। किसान कॉल सेंटर (किसान कॉल केंद्र) आए हुए ऑनलाइन कॉल को रिकॉर्ड किया जाता है और किसानों की जानकारी को तारिक को उनकी समस्या के बारे में बताया जाता है और उनके स्थान और समाधान के अकाउंट से एक डेटा बेस बनाया जाता है और इसे नेट पर अपलोड किया जाता है।

देश मे किसान कॉल सेंटर की सूची किसान कॉल सेंटर की जानकारी/सूची हिंदी में :

एस.एन.. किसान कॉल सेंटर स्टेट झा की समस्या का समाधान किया गया है।
1 मुंबई महाराष्ट्र, गोआदमी, दमनकारी दिन
2 कान उत्तर प्रदेश, उत्तर प्रदेश
3 कोच्चि केरला, लक्षद्वीप
4 बैंगलोर कर्नाटक
5 चेन्नई तमिल नाडु, अंडमान निकोबार
6 राज आंध्र प्रदेश
7 चंडीगढ़ चंडीगढ़, हिमाचल प्रदेश, पंजाब
8 जयपुर राजस्थान
9 इंदौर मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़
10 कोलकाता पश्चिम बंगाल, बिहार, उड़ीसा, झारखंड
11 कोलकाता पूर्वोत्तर राज्य
12 दिल्ली दिल्ली, हरियाणा
13 हाँ गुजरात, दादर, नगर हवेली

किसान कॉल सेंटर टोल फ्री नंबर हिंदी किसानों की स्थिति देश में बहुत पुरानी है लेकिन इस तरह के किसान कॉल केंद्र की मदद से किसान अपनी स्थिति में सुधार मूल रूप से कर सकते हैं किसान कॉल केंद्र सेसंबद्ध

किसान कॉल सेंटर टोल फ्री नंबर हिंदी यह ब्लॉग हिंदी पाठकों की सुविधा के लिए लिखा गया है अगर आपको इससे पहले मदद मिली हो तो बॉक्स में कमेंट करें

अन्य पढ़ें :

[ad_2]

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *